मध्य प्रदेश

जो बच्चे अंडे खाते हैं उन्हें अंडे देंगे: इमरती देवी

मंत्री ने एक बार फिर साफ की सरकार की मंशा
भोपाल । आंगनबाडी में आने वाले बच्चों को पोषक आहार के रुप अंडे देने के सरकार के फैसले को लेकर प्रदेश की
महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने कहा कि जो बच्चे अंडे खाते हैं उन्हें अंडे दिए जाएंगे। प्रदेश सरकार भाजपा के दबाव में काम नहीं करने वाली है। उन्होंने स्पष्ट किया कि हमारा उद्देश्य प्रदेश से कुपोषण को खत्म करना है। इमरती देवी कल राजधानी में मीडिया से बात कर रही थीं। उन्होंने रीवा की घटना पर चर्चा करते हुए कहा है कि सरकार का प्रयास रहेगा कि देश में ही बच्चे गोद दिए जाएं, विदेशों में नहीं। इसके लिए जरूरी हुआ तो सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगाएंगे। मंत्री ने दावा किया है कि कमलनाथ सरकार के आने के बाद से प्रदेश में कुपोषण से मौत नहीं हुई। अपने कार्यकाल का कामकाज बताने आईं मंत्री इमरती देवी ने आंगनवाड़ियों में बच्चों को अंडा दिए जाने के सवाल पर कहा कि प्रदेश में कम वजन के 42.8 फीसदी बच्चे हैं। ऐसे बच्चों को पोषक तत्व देने के लिए अंडा देना जरूरी है। मंत्री ने बताया कि प्रदेश के 313 आंगनवाड़ी केंद्रों को बाल शिक्षा केंद्र के रूप में विकसित किया जा रहा है। दूसरे चरण में 800 बाल शिक्षा केंद्र विकसित किए जाएंगे।
मंत्री ने विभाग की शुरू होने वाली विभिन्न् योजनाओं की जानकारी देते हुए बताया कि विभाग हर दिन तीन आंगनवाड़ी केंद्रों का लोकार्पण करेगा। अति गंभीर कुपोषित बच्चों के लिए सी-सेम अभियान शुरू कर दिया है, जो दो चरणों में चलाया जाएगा। इसके तहत फॉर्म भरकर जानकारी इकट्ठी की जाएगी और सीएसएएम एप के जरिए निगरानी की जाएगी। मंत्री ने बताया कि पोषण जागरूकता स्टाल अभियान शुरू किया जा रहा है। जिसमें विभाग आदिवासी क्षेत्रों में साप्ताहिक पोषण स्टाल लगाएगा। कांग्रेस के वचन पत्र को लेकर पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के बयान पर मंत्री इमरती देवी ने कहा कि हम सरकार के साथ हैं और सिंधिया जी भी सरकार के साथ हैं। मीडिया से चर्चा शुरू होने से पहले मंत्री ने पुलवामा में शहीद हुए सैनिकों को एक मिनट मौन रख कर दी श्रद्धांजलि दी।मंत्री ने बताया कि स्वाद पोषण एवं स्वास्थ्य सामुदायिक पोषण रसोई योजना की शुरूआत करेंगे। उन्होंने कहा कि मप्र इस स्तर पर काम करने वाला पहला राज्य होगा। इसमें 80 हजार से ज्यादा आंगनवाड़ी कार्यकर्ता शामिल होंगे।
सुदामा नर-वरे/15फरवरी2020

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *