देश

विश्वभर में सबसे ज्यादा 20 हजार मौतें, 5 लाख से अधिक संक्रमित

एक दिन में 1920 की मौत
वाशिंगटन। अमेरिका में कोराना ने कोहराम मचा रखा है। वह दुनिया का पहला ऐसा देश हो गया है, जहां एक ही दिन में कोविड-19 महामारी से 2,000 से ज्यादा मौत हुई हैं। साथ ही मौत के मामले में भी इटली को पीछे छोड़ दिया है। अब विश्व में सबसे ज्यादा मृतक और संक्रमित अमेरिका में ही हैं। जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के आंकड़ों के मुताबिक शनिवार सुबह देश में मृतकों का आंकड़ा 20,137 पहुंच गया है जो इटली से अधिक है। इटली में 19,468 लोगों ने जान गंवाई है। अमेरिका में संक्रमित मरीज भी विश्व में सबसे अधिक 5,21,042 हो गए हैं। वहीं, कोविड-19 मृतकों के केंद्र के तौर पर उभरे न्यूयॉर्क में कुल 1,80,548 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है, जो किसी एक देश से ज्यादा है। न्यूयॉर्क में कोरोना वायरस से 8627 लोगों की मौत हुई है, वहीं न्यू जर्सी में करीब 2,183 मौतें हुई हैं और 58,000 से अधिक संक्रमित हैं। दूसरी ओर विश्वभर में कोरोना वायरस से 17,54,362 संक्रमित हैं जबकि 1,07,030 लोगों की मौत हो चुकी है। 393,739 लोग इस बीमारी से ठीक भी हो चुके हैं।
फ्रांस: 24 घंटे में 987 लोगों की मौत
फ्रांस में बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण से 987 लोगों की मौत हुई है। हालांकि आईसीयू में भर्ती रोगियों की संख्या में लगातार दूसरे दिन गिरावट आई है। साथ ही देश में संक्रमण से मरने वालों की संख्या 13,832 हो गई है। यहां एक दस साल के संक्रमित बच्चे की भी मौत हो गई है। हालांकि, स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि उसकी मौत के कई कारण हैं।
स्पेन: 19 दिनों में सबसे कम मौतें
स्पेन में कोरोना वायरस के प्रसार में नाटकीय बदलाव देखने को मिला है। शनिवार को यहां सबसे कम मृत्युदर दर्ज की गई है। 24 घंटे में 510 लोगों की मौत के साथ यह 19 दिनों में सबसे कम मृत्युदर है। हालांकि, स्पेन में कोरोना मरीजों की संख्या 1,61,852 के पार हो चुकी है। मृतक संख्या यहां 16,353 के पार हो गई है। इस बीच, देश की संसद ने 15 दिनों के लिए राष्ट्रीय आपातकाल के विस्तार को मंजूरी दी।
ईयू: 546 अरब डॉलर का बचाव पैकेज
यूरोपीय संघ (ईयू) के वित्त मंत्रियों ने कोरोना प्रभावित यूरोपीय देशों के लिए 546 अरब डॉलर के बचाव पैकेज का एलान किया है। यूरो समूह वित्त मंत्रियों के प्रमुख मैरियो सेंटेनो ने इसकी घोषणा की। फ्रांसीसी वित्त मंत्री ब्रूनो ले मायरे ने इसे ऐतिहासिक बताया।
एसएस/12अप्रैल/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *