देश

जींस व्यापारियों के साथ करोड़ों की धोखाधड़ी करने वालों को मिलेगी क़ानूनी सजा- राजा गेमनानी

  • प्रवासी मजदूरों से कम भाव में ख़रीदा माल
    उल्हासनगर। इस लॉक डाउन में उल्हासनगर के जींस व्यापारियों के साथ करोड़ों की धोखाधड़ी होने की बात सामने आई है. आश्चर्य की बात ये है कि विभीषण का काम अपनों ने ही किया है. लेकिन अब ऐसे विभीषणों को ढूंढ कर उन्हें क़ानूनी सजा दिलाने का ऐलान किया है भाजपा के युवा नेता और उल्हास नागरिक फॉउंडेशन के अध्यक्ष राजा गेमनानी ने. दरअसल कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए २४ मार्च से समूचे देश में लॉक डाउन है जिसके चलते इसका सबसे ज्यादा प्रभाव व्यापारियों, दुकानदारों तथा मजदूरों पर पड़ा है. मालूम हो कि उल्हासनगर औद्योगिक शहर कहलाता है और यहां बनने वाला हर सामान देश-विदेश तक जाता है. खासकर उल्हासनगर में जींस कपड़ों का बहुत बड़ा कारोबार है. इन सब कारोबार में हजारों प्रवासी मजदूर काम करते हैं लेकिन लॉक डाउन के चलते उनके समक्ष भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई. राजा गेमनानी कहते हैं कि मानवता के नाते शहर की जींस गारमेंट्स की संस्था उल्हासनगर गारमेंट्स मैन्युफेक्चरर्स असोसिएशन (उगमा) ने जींस उधोग से जुड़े प्रवासी मजदूरों को दो वकत के भोजन की व्यवस्था की गयी और करीब ५० दिनों तक ८ हजार से अधिक मजदूरों को इसी बीच कपडा उद्योग से जुड़े कुछ स्वार्थी लोग या यूँ कहें विभीषण जैसे लोग सेवा कार्य में जुड़े व्यापारियों के करोड़ों के कपड़े उन प्रवासी मजदूरों से बहुत ही कम भाव में खरीद लिया. इस घटना पर अपनी कड़ी नाराजगी जताते हुए राजा गेमनानी कहते हैं कि जिन लोगों ने ये हरकत की है वो काफी शर्मनाक है और लॉक डाउन खुलने के बाद ऐसे स्वार्थी लोगों के खिलाफ कड़ी क़ानूनी कार्रवाई की जाएगी.
    संतोष- ९.४५/२३ मई/२०२०/ईएमएस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *