साहित्य

आवश्यक है ‘प्रकृति से तारतम्य’

आधुनिक जिंदगी की तेज रफ्तार और तेजी से दौड़ते छोटे ,बड़े कदम, कभी -कभी बेबस होकर सोचते हैं हम कहाँ भागे जा रहे हैं! क्यों न थोड़ी देर ठहरें ,संभलें और सोचें हम,थोडा वक़्त निकालें अपने लिए, अपनों के लिए। आपाधापी,दौडभाग में बच्चों से लेकर जवान बूढ़े भी शामिल हैं आज , लेकिन थोडा सोचना […]

साहित्य

समाज में नकारात्मकता की बढ़ती स्वीकार्यता

पौराणिक कथाओं के अनुसार जहां भारत को मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम की पावन धरती के नाम से जाना व पहचाना जाता है वहीं आधुनिक इतिहास में भारत की पहचान गांधी के देश के रूप में होती है। भगवान राम हों या महात्मा गांधी दोनों ही त्याग-तपस्या,सत्य व अहिंसा के रूप में याद किए जाते हैं। […]

साहित्य

मकड़जाल

ओह !  हो  मां  मुझे अभी  केरियर बनाना है।आप है की शादी के लिए लड़का देख रही है।बेटा दो साल बाद तुम्हारे पापा का रिटायरमेंट है इसलिए मैं चाहती हूं उससे पहले तुम्हारे हाथ पीले कर दूंँ सृजना समझा करो छोटी बहन का भी तो ब्याह करना है।माँ मैं केरियर को दावपर नहीं ‌लगा सकती  मुझे […]

साहित्य

संस्कार

    रानी का विवाह होने को अठ्ठारह बसंत हो गये ,पर विवाह के बाद रानी सिर्फ नाम ही रह गया था ससुराल मै पूरे परिवार के काम का बोझ और सास ससुर ननंद के दिल छलनी कर देने वाले ताने और पति महोदय राजकुमार नाम के थे और काम हिटलर का शराब पीना और शाम […]

साहित्य

गोरैया

अरसे से दादी के यहाँ जाना नहीं हो पाया |इस बार दादी ने आग्रह  कर हमे गाँव बुलाया| गाँव की ताजी मीठी हवा हमेशा मुझे अपने आगोश में बाँध लेती है| मुझे अफसोस रहा कि इतने दिनो मैं कैसे अपने को मिट्टी के इस सौंधेपन से अलग रख पायी? दादी का निश्छल स्नेह मुझे भिगोता […]

साहित्य

** उबलते नीर**

 सूरज की रश्मियों ने आज यह प्रण  कर लिया है कि वो मुझे जला  कर ही दम लोगी । “इस गगन को क्या हुआ ? “ “ये क्यों मोन है “एक कतरा बादल का कहीं नजर नहीं आ रहा है।” लगता है बादल भी मेरे खिलाफ कोई साजिश रच रहा है। ” ये नदिया भी […]

साहित्य

मनकों का जोड़ घटाव

सुबह की सुंदर बेला में स्नान से निवृत होकर मालती देवी ने भगवान को नहला कर आसन पर विराजमान किया तिलक चंदन कर फूल अर्पित किये । “माला की थेली उठाई और माला फेरना शुरू किया हर मनके पर मंत्र पढ़ा ।” लेकिन वावजूद इसके की मन स्थिर होता वो माला गिनने में लग गया […]

साहित्य

भारत में विश्व फालुन दाफा दिवस समारोह

13 मई का दिन पूरे विश्व में फालुन दाफा अभ्यासियों के लिए एक विशेष महत्व रखता है. फालुन दाफा मन और शरीर का एक प्राचीन आध्यात्मिक अभ्यास है, जिसे श्री ली होंगज़ी ने पहली बार 1992 में सार्वजनिक किया. इस वर्ष फालुन दाफा के परिचय की 27 वीं वर्षगांठ है,  जिसे दुनिया भर में इसके […]

साहित्य

लापरवाही

          अर्पिता और अमित के जीवन में सब कुछ बड़ा ही खुशहाल चल रहा था। शादी के 20 वर्ष बाद अपने काम से अमित बहुत खुश था और अपनी बिटिया अंकिता के लिए एक सुंदर भविष्य की कामना के साथ उसने उसकी पढ़ाई के लिए सेविंग की हुई थी।         अंकिता भी पढ़ने में काफी […]

साहित्य

तीन युवक खरगोन कुंदा नदी में डूबे , तीनो की मौत

खरगोन  थाना क्षेत्र के सन्तोषी माता  रोड स्थित कुंदा नदी पर बने वॉटर वर्क्स के पास आठ  युवक में से  नहाने के दौरान तीन युवक की डूबने से मौत होने से खरगोन शहर  में हड़कम मच गया। तीनो की लाश एक घण्टे की सर्चिंग के बाद नदी से निकाली गई। मृतक युवकों में दो इंदौर […]