व्यापार

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक को जनवरी-मार्च तिमाही में 76.36 करोड़ का मुनाफा

नई ‎‎दिल्ली । आईडीएफसी बैंक का मुनाफा जनवरी-मार्च तिमाही में 76.36 करोड़ रुपए रहा। इससे पिछले वित्त वर्ष 2018-19 की इसी तिमाही में बैंक को 212 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। बैंक ने कहा कि आईडीएफसी और सीएफएल का विलय एक अक्टूबर 2018 को होने के चलते वित्त वर्ष 2019-20 के परिणाम की तुलना पिछले साल से नहीं की जा सकती। बैंक को अक्टूबर-दिसंबर 2019 की तिमाही में 1,631.59 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। शेयर बाजार को दी जानकारी के मुताबिक जनवरी-मार्च तिमाही में बैंक की आय 4,553 करोड़ रुपए रही जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 3,971 करोड़ रुपए थी। वित्त वर्ष 2019-20 में बैंक की आय 17,962.72 करोड़ रुपए रही जो 2018-19 में 13,056.17 करोड़ रुपए थी। मार्च की समाप्ति पर बैंक की सकल गैर निष्पादित आस्तियां (एनपीए) उसके सकल ऋण का 2.6 प्रतिशत रही जो पिछले साल इसी दौरान 2.43 प्रतिशत थी। इस दौरान बैंक का शुद्ध एनपीए उसके शुद्ध ऋण का 0.94 प्रतिशत रहा जो इससे पिछले वित्त वर्ष में 1.27 प्रतिशत था। बैंक के निदेशक मंडल ने बांड, निजी नियोजन के आधार पर अधिकतम 5,000 करोड़ रुपए जुटाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी।
सतीश मोरे/23मई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *