देश

शहरों में उत्पात के बाद ग्रामीण इलाकों में पांव पसार रहा कोरोना


नई दिल्ली (ईएमएस)। कोविड-19 के चलते देश के अलग-अलग हिस्सों में पाबंदियों का असर दिखने लगा है। भारत में पिछले कुछ दिनों से कोरोना संक्रमण के नए मामलों में कमी देखने को मिल रही है। इस बीच केंद्र सरकार ने रविवार को ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना वायरस के प्रसार के मद्देनजर नए दिशानिर्देश जारी किए हैं। सरकार ने बताया कि अब धीरे-धीरे पेरी-अर्बन, ग्रामीण और आदिवासी क्षेत्रों में भी कोरोना का फैलाव देखा जा रहा है। ग्रामीण इलाकों में संक्रमण के जंग के लिए स्थानीय रूप से चल रहे केयर सेंटर पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा और जहां आरटी-पीसीआर सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं वहां रैपिड टेस्टिंग बढ़ाई जाएगी। स्वास्थ्य मंत्रालय ने गाइडलाइंस में कहा है “शहरी, ग्रामीण और आदिवासी क्षेत्रों में यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि इन क्षेत्रों में समुदाय-आधारित सेवाएं और प्राथमिक स्तर का स्वास्थ्य बुनियादी ढांचा ठीक हो हो। फिलहाल, महाराष्ट्र, कर्नाटक, यूपी, आंध्र प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली, हरियाणा, बिहार, गुजरात, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, झारखंड, तेलंगाना, जम्मू, गोआ, चंडीगढ़, लद्दाख में कोरोना संक्रमण की स्थिति काबू में है। जबकि केरल, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, असम, पंजाब, ओडिशा, हिमाचल प्रदेश, पुडुचेरी और मणिपुर की स्थिति अभी भी चिंताजनक बनी हुई है। इधर, स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों पर अगर गौर करें तो रोजाना सामने आने वाले मामले 4 लाख की संख्या को पार कर गए थे। हालांकि राहत की बात यह है कि अब यह संख्या तीन लाख के नीचे जाती हुई दिख रही है। द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटे में 2.81 लाख के करीब नए मामले सामने आए हैं। कोरोना के नए मामलों की संख्या में भले ही गिरावट देखने को मिली है, लेकिन इस महामारी से मरने वालों की संख्या चार लाख के करीब आज भी बनी रही। बीते 24 घंटे में इस बीमारी से 4 हजार से अधिक लोगों की मौत हो गई।
अजीत झा/देवेंद्र/ईएमएस/नई दिल्ली/17/मई/2021