मनोरंजन

क्या इंद्रेश बचा पाएगा स्वाति को?

 ‘संतो मां सुनाये व्रत कथायें‘ में स्वाति भी अपने पति, इंद्रेश के लिए प्रार्थना करने का मन बना चुकी है। इंद्रेश, पूजा में पत्नी के साथ शामिल होने का फैसला करता है। देवेश ने स्वाति का अपहरण कर उसे एक संदूक में बंद कर दिया है। सिंहासन सिंह देवेश को गोली मार देता है, क्योंकि वह भागने की कोशिश करता है। स्वाति और उसके होने वाले बच्चे दोनों की जान को खतरा है। इंद्रेश ने स्वाति के साथ सुनहरा भविष्य जीने के लिये सारी बाधाओं को पार किया है। क्या इंद्रेश को सावित्री की कहानी से प्रेरणा मिलेगी और वह समय रहते अपने परिवार को मौत के मुंह से बचा लेगा या किस्मत के सामने घुटने टेक देगा?