मध्य प्रदेश

इटावा में शिक्षक हत्याकाण्ड का खुलासा,पत्नी समेत तीन गिरफ्तार

इटावा ,16 जून (वार्ता) उत्तर प्रदेश की पुलिस ने इटावा के चौबिया इलाके में की गई शिक्षक सुनील की हत्या का खुलासा करते हुए उसकी पत्नी और प्रेमी समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार मिश्रा ने यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि माखनपुर निवासी प्राथमिक स्कूल में शिक्षक सुनील कुमार 30 मई से लापता था। पहले उनके परिजनो सुनील को खोजते रहे लेकिन जब उसका कोई पता नहीं चला तो आठ जून को चौबिया थाने उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। 
उन्होंने बताया कि पुलिस ने गहनता से सुनील की खोजबीन शुरू करने के साथ उसके मोबाइल नंबरो को सर्विलांस पर लगाया दिया था। उन्होंने बताया कि सुनील कुमार की तलाश के लिए क्षेत्राधिकारी सैफई के नेतृत्व में क्राइम ब्रांच की दो टीमों को लगाया गया था। इस दौरान कई महत्वपूर्ण साक्ष्य पुलिस के हाथ लगे। पुलिस ने आज सुनील के मित्र सुखबीर को गिरफ्तार कर उसकी निशानदेही पर सुनील के शव के अवशेष बरामद किये गये ।
श्री मिश्रा ने बताया कि पूछताछ पर सुखवीर ने बताया की वह सुनील का पुराना मित्र है। सुनील उच्चतर माध्यमिक विद्यालय केशव राहिन चौबिया तथा सुखवीर यादव उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बरसैडा भरथना में पढाता है । सुनील की पत्नी रेखा भी शिक्षामित्र है । सुखवीर का सुनील के घर आना जाना था। इस बीच सुखवीर के संबंध सुनील की पत्नी से हो गये थे । सुखवीर और रेखा सुनील को अवैध संबंधों में बाधक समझते थे और इसी कारण सुखवीर और रेखा ने सुनील की हत्या के लिये औरैया जिले के बंजाराहार निवासी रामप्रकाश यादव को 10 हजार देकर हत्या की साजिश रची थी।
उन्होंने बताया कि 30 मई को ही सुनील को कुसैली निवासी सुखवीर यादव अपने घर ले गया जो अक्सर बन्द रहता था । सुखवीर यादव ने सुनील को कमरे में ले गया और उसे सुला दिया। सुनील के सो जाने के बाद सुखवीर ने सुनील के सिर में फावडा मारकर उसकी हत्या कर दी और शव को काटकर क्षतविक्षत करके कमरे में गड्डा खोदकर शव को गड्डे में मिट्टी का तेल डालकर जला दिया और वहीं दबाकर कमरा बन्द कर दिया। उसकी हत्या के बाद सुखवीर यादव ने उसकी कार को कानपुर रेलवे स्टेशन की पार्किंग में खडा करवा दिया था । 
श्री मिश्रा ने बताया कि इस सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा करते हुए पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से हत्या में प्रयुक्त फावडा बरामद कर लिया। उन्होंने घटना का खुलासा करने वाले पुलिस बल को दस हजा रुपये बतौर इनाम देने की घोषणा की।
सं त्यागी
वार्ता

Leave a Reply