मध्य प्रदेश

नेशनल पार्क व अभयारणों का नहीं बढ़ेगा प्रवेश शुल्क

भोपाल । पर्यटन को बढ़ाने के लिए विदेशियों को लुभाने का प्रयास कर रही राज्य सरकार इस साल टाइगर रिजर्व, नेशनल पार्क और अभयारण्यों की प्रवेश फीस नहीं बढ़ाएगी। राज्य सरकार ने फीस बढ़ाने संबंधी वन विभाग का प्रस्ताव लौटा दिया है। अति विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार सरकार पर्यटकों के लिए पार्क एवं अभयारण्य नि:शुल्क खोलने पर भी विचार कर रही है। इसके लिए 21 अगस्त को होने वाली वन्य प्राणी संरक्षण बोर्ड की बैठक में फैसला लिया जाना था, लेकिन बैठक टल गई। सूत्रों का कहना है कि प्रवेश शुल्क नि:शुल्क करने के लिए सरकार को सुप्रीम कोर्ट तक जाना पड़ेगा। कोर्ट की गाइडलाइन के तहत वर्तमान में पार्क में पर्यटकों को नि:शुल्क प्रवेश नहीं दिया जा सकता है।
वन विभाग प्रदेश के नेशनल पार्क और अभयारण्यों की प्रवेश फीस हर साल बढ़ाता है। इस साल भी प्रस्ताव तैयार किया गया था। सरकार की मंजूरी के बाद एक अक्टूबर से इसे लागू किया जाना था, लेकिन प्रदेश में पर्यटन की संभावना तलाश रही कमलनाथ सरकार ने इसे लौटा दिया है।
सरकार देगी 20 करोड़ रुपए
वर्तमान में नेशनल पार्क और अभयारण्यों से सरकार को सालभर में करीब 27 करोड़ रुपए राजस्व मिलता है। यह राशि सरकार वन विभाग को देगी और पार्क के गेट सभी पर्यटकों के लिए खोल दिए जाएंगे, लेकिन ये तभी संभव है, जबकि सुप्रीम कोर्ट शुल्क माफ करने के लिए तैयार हो जाए।
22 अगस्त 2019

Leave a Reply