देश

बुमराह की बेमिसाल यार्कर के दीवाने हैं श्रीलंकाई दिग्गज मलिंगा

नई दिल्ली श्रीलंका के महान तेज गेंदबाज लसित मलिंगा बल्लेबाजों के पंजे तोड़ने वाली यॉर्कर के लिए जाने जाते हैं, लेकिन दिलचस्प बात यह है कि यह दिग्गज भारतीय गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की यॉर्कर का दीवाना है। सन 2008 में इंडियन प्रीमियर लीग की शुरुआत से ही मलिंगा मुंबई इंडियंस टीम से जुड़े हुए हैं। इस साल खेले गए आईपीएल फाइनल में मलिंगा ने आखिरी गेंद पर चेन्नई सुपरकिंग्स के बल्लेबाज शार्दुल ठाकुर का विकेट लेकर अपनी टीम को रिकॉर्ड चौथा खिताब जिताया था। जसप्रीत बुमराह भी मुंबई इंडियंस टीम में मलिंगा के साथी हैं और बुमराह की सफलता में मलिंगा के टिप्स अहम साबित हुए हैं। श्रीलंकाई तेज गेंदबाज लसित मलिंगा ने कहा मैं खुश हूं कि अपने अंतरराष्ट्रीय करियर के दौरान मैं किसी ऐसे खिलाड़ी की मदद करके काफी खुश हूं जो अब नंबर एक गेंदबाज है। मैं बुमराह को टिप्स देकर खुश हूं। जिनके चलते उनकी सफलता में मेरे योगदान को पहचाना गया। मुझे लगता है कि हर किसी की अपनी विशेषज्ञता और अनुभव होते हैं। जिन्हें युवा खिलाड़ियों के साथ साझा किया जा सकता है। इस तरह वास्तव में जीत क्रिकेट की ही होती है। जसप्रीत बुमराह मुंबई इंडियंस से साल 2013 में जुड़े थे।
लसित मलिंगा ने जसप्रीत को मेरी तुलना में सीखने के ज्यादा अवसर मिले। उनके पास ऐसा दिमाग भी है जो उन्हें मिली सलाह पर तेजी से अमल करता है। ये देखना वाकई सुखद अनुभाव है कि वह अपनी यॉर्कर और स्लोअर गेंदों का किस तरह इस्तेमाल करते हैं। जिस तरह वह ऐसा करते हैं, वाकई अविश्वसनीय है। उनमें सीखने की भूख है। इंडियन प्रीमियर लीग के अगले साल होने वाले सीजन के लिए मुंबई इंडियंस ने जसप्रीत बुमराह और लसित मलिंगा दोनों को ही बरकरार रखा है। आईपीएल का अगला सीजन मार्च के अंत में या अप्रैल के शुरू में आयोजित होगा।
श्रीलंकाई दिग्गज गेंदबाज ने अपने करियर के सबसे खराब पलों के बारे में बताते हुए कहा सन 2012 में भारत के खिलाफ हारना खराब लगा। तब टीम ने लगभग 340 रन बनाए ‌थे, लेकिन मैं अपनी लाइन लेंग्‍थ से भटक गया और अपनी योजना को मैदान पर लागू नहीं कर सका। इसके बाद उसी साल टी-20 वर्ल्ड कप फाइनल में मैंने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया, लेकिन अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सका। जहां तक बात अच्छी यादों की है, तो निश्चित रूप से 2019 के वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के खिलाफ चार विकेट लेना बेहतरीन था। मैंने श्रीलंका टीम मैनेजमेंट के सामने साबित किया कि मैं इस स्तर पर भी बेहतरीन प्रदर्शन कर सकता हूं। इसके अलावा पिछले साल एशिया कप में बांग्लादेश के खिलाफ मैच भी यादगार था, क्योंकि मैं 18 महीने बाद वापसी कर रहा था।
अनिरुद्ध/ 01 दिसंबर 2019

Leave a Reply