मध्य प्रदेश

गुंडागर्दी पर उतरे कृषि विभाग के अधिकारी

खाद-बीज व्यापारी को धमकाया अवैध वसूली के लिए
भोपाल । प्रदेश के कृषि विभाग के अधिकारी अवैध वसूली के लिए अब गुंदागर्दी पर उतर आए हैं। वे मनचाही राशि नहीं मिलने पर व्यापारियों को फंसाने की धमकी भी दे रहे हैं। ऐसे ही एक मामले की व्यापारी द्वारा लोकायुक्त से शिकायत के बाद अधिकारी को अवैध वसूली करते हुए रंगेहाथों दबोचा गया है। यहां बता दें कि एक तरफ सरकार ‘शुद्ध के लिए युद्ध” अभियान चला रही है, वहीं दूसरी तरफ इस अभियान की आड़ में कृषि विभाग के अधिकारी खाद-बीज व्यापारियों को धमका कर वसूली कर रहे हैं। राज्य सरकार की नाक के नीचे भोपाल में कृषि विभाग के संयुक्त संचालक उत्तम सिंह जादौन ने एक व्यापारी की दुकान से सैंपल लिए और नकली खाद-बीज के मामले में फंसाने की धमकी देकर पांच लाख रुपए की मांग की थी। शनिवार को लोकायुक्त की विशेष स्थापना पुलिस ने जादौन को उनके अरेरा कॉलोनी स्थित निवास के पास कार में दो लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार किया। इसके बाद उनके भोपाल स्थित निवास तथा इंदौर के घर पर तलाशी अभियान शुरू किया गया है। शुद्ध के लिए युद्ध अभियान में कृषि विभाग नकली खाद-बीज की व्यापारियों के ठिकानों से सैंपल ले रहा है और उनके खिलाफ कार्रवाई कर रहा है।
जानकारी के अनुसार, भोपाल में पदस्थ कृषि विभाग के संयुक्त संचालक उत्तम सिंह जादौन ने अपने अमले के साथ सप्ताह भर पहले नरेला शंकरी क्षेत्र में मानसिंह राजपूत नाम के खाद-बीज व्यापारी की दुकान पर कार्रवाई की थी। राजपूत के यहां से जादौन ने सैंपल लिए थे, लेकिन इसके बाद कार्रवाई के साथ उन्होंने व्यापारी से लगातार संपर्क किया। बताया जाता है कि मानसिंह राजपूत ने लोकायुक्त की विशेष स्थापना पुलिस में शिकायत की है कि जादौन द्वारा पांच लाख रुपए की रिश्वत मांगी जा रही थी। शुक्रवार को जादौन ने मानसिंह से एक लाख रुपए ले लिए और शनिवार को दो लाख रुपए देने की बात हुई थी। विशेष पुलिस स्थापना ने जादौन व राजपूत की लेन-देन की इस बातचीत को भी रिकॉर्ड किया है। उन्होंने राजपूत को कैंपियन स्कूल के पास स्थित अपने ई-7 अरेरा कॉलोनी के निवास पर राशि लेकर बुलाया था। जादौन घर के पास एक इनोवा कार में बैठे थे और मानसिंह राजपूत को उसी कार में बुला लिया। कार में दोनों के बीच राशि के लेन-देन के संकेत मिलते ही विशेष पुलिस स्थापना की टीम ने जादौन को रंगेहाथों पकड़ लिया। इसके बाद उनके निवास पर कार्रवाई शुरू की। जब टीम को पता चला कि उनका इंदौर में भी एक मकान है तो वहां भी विशेष पुलिस स्थापना की इंदौर टीम को भेजकर तलाशी शुरू की गई।
सुदामा नर-वरे/01दिसंबर2019

Leave a Reply