देश

जनवरी में होगा चर्म रोग निदान एवं उपचार अभियान

रायपुर,। समुदाय में कुष्ठ रोग के संक्रमण को रोकने के लिये राज्य में ‘’चर्मरोग निदान एवं उपचार अभियान’’ जनवरी में आयोजित किया जाएगा। इसके तहत बनायीं गयी कार्ययोजना के अनुसार संभावित कुष्ठ रोग से पीड़ित व्यक्तियों की पहचान एवं पंजीयन मितानिन एवं पुरुष स्वास्थ्य कार्यकर्ता द्वारा घर-घर जाकर की जाएगी।
चर्मरोग निदान एवं उपचार अभियान, जो राष्ट्रीय कुष्ठ उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत आयोजित किया जाएगा, की जानकारी देते हुए ज़िला नोडल अधिकारी डॉ अनिल परसाई ने बताया प्रतिदिन ग्रामीण क्षेत्र में 15 से 20 घरों में तथा शहरी क्षेत्र में 20-25 घरों में सर्वेक्षण कार्य खोजी दलों द्वारा किया जाएगा। इसके अलावा संभावित कुष्ठ रोगियों की पुष्टि के लिए पुष्टिकरण शिविर का आयोजन भी किया जाएगा। क्षेत्र के सभी घरों में खोज अभियान के लियें रोड मेप तैयार किया जाएगा। खोजी दलों द्वारा भेंट किये गए घरों के सभी सदस्यों का परीक्षण कर चर्मरोग से संबंधित व्यक्तियों का परीक्षण करेंगे एवं उनकी सूचीबध्दकरेंगे।
अभियान के सफल क्रियान्वयन के लियें हितग्राहियों की निजता को ध्यान में रखते हुए महिलाओं का परीक्षण महिला मितानिन द्वारा एवं पुरुषों का पुरुष स्वास्थ्य कार्यकर्ता पुरुष कम्युनिटी वालंटियर द्वारा परीक्षण किया जाए जाएगा । पांच हज़ार जनसंख्या के 10 प्रतिशत घरों का औचक निरीक्षण पर्यवेक्षक एनएमएस एवं एनएमए द्वारा किया जाएगा ।प्राप्त प्रकरणों की सूची चिकित्सा अधिकारी द्वारा नियमित रूप से जिला कुष्ठ अधिकारी एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को नियमित भेजी जाएगी ।
डॉक्टर परसाई ने बताया राज्य स्तरीय पर्यवेक्षक चर्म रोग निदान एवं उपचार अभियान के दौरान अपने प्रभार के जिलों में भ्रमण कर कार्यक्रम का सुपरविजन करेंगे । जिला एवं विकासखंड स्तर पर कंट्रोल रूम स्थापित कर राज्य को कार्य की प्रगति से अवगत कराया जाएगा पर्यवेक्षकों द्वारा निरंतर क्षेत्र का भ्रमण कर विकासखंड में चर्म रोग निदान उपचार अभियान की अद्यतन जानकारी जिला कलेक्टर, सीएमएचओ, सीएस,डीएलओ, एवं बीएमओ को देंगें।
सूक्ष्म कार्ययोजना की प्लानिंग के लिए मेन पावर प्लानिंग पर विशेष ध्यान देकर अभियान का क्रियान्वयन किया जाएगा ।
पंकज/किसुन/27 दिसम्बर 2019

Leave a Reply