मध्य प्रदेश

रेलवे अब यात्रियों को दे रहा हल्के कंबल

एसी कोच के यात्रियों को थी कंबल के ज्यादा वजन से शिकायत
भोपाल । नए साल में रेलवे अब कम वजन वाले कंबल एसी कोच के यात्रियों को उपलब्ध करवाएगा। रेल के एसी कोच में सफर करने वाले यात्रियों को कंबल के ज्यादा वजन एवं गंदे होने को लेकर ज्यादा शिकायत रहती थी, जिसका हल रेलवे ने ढूंढ लिया है। इस समस्या का समाधान करते हुए रेलवे ने एसी कोच में यात्रियों को दिए जाने वाले कंबल का वजन घटा दिया है। अभी तक बेडरोल के साथ दिए जाने वाले कंबल का वजन 2 किलो 400 ग्राम हुआ करता था, जिसे अब 1 किलो 300 ग्राम कर दिया गया है। इतना ही नहीं इसकी गुणवत्ता सुधारने साफ्ट कंबल मंगाए गए हैं। जबलपुर की ट्रेनों में यात्रियों को नए कंबल देना शुरू कर दिए गए हैं। यहां से रवाना होने वाली 16 से ज्यादा ट्रेनों के लिए पिछले एक माह में तकरीबन 4 हजार कंबल आए हैं। ट्रेनों में सफर करने वाले यात्रियों ने रेलवे बोर्ड ने सफर को आसान बनाने के लिए सुझाव मांगे।
इस दौरान यात्रियों ने एसी कोच में आने वाली परेशानियों को लेकर शिकायत भी दर्ज की, जिसमें यह कहा गया कि कंबल के भारी वजन से यात्रियों को कई बार दम घुटने लगता है। वहीं कंबल की बनावट से उन्हें ओढ़ने में परेशानी होती है। कंबल की सफाई और लगातार आ रहीं शिकायतों के बाद रेलवे ने पहले एसी कोच में कंबल देना बंद करने का मन बनाया था। इसके बदले में यात्रियों को कोच में राहत देने के लिए एसी का तापमान बढ़ाने की तैयारी की। दरअसल, अभी ट्रेन के एसी कोच का तापमान 19 डिग्री होता है, इसे 24 डिग्री करने पर विचार किया गया। इसके पीछे की एक और वजह थी कि इसकी सफाई में होने वाला खर्च है, लेकिन फिलहाल इसे टाल दिया गया है। रेलवे एक कंबल की सफाई में तकरीबन 55 रुपए खर्च करता है, लेकिन यात्रियों से सिर्फ 22 रुपए ही लेता है। एसी कोच में सफर करने वाले यात्रियों को कंबल की गुणवत्ता को लेकर भी शिकायतें थी, जिसका निराकरण भी रेलेव ने कर दिया है। रेलवे को उम्मीद है कि अब आरक्षित श्रेणी के यात्रियों को और कोई शिकायत नहीं होगी।
सुदामा नर-वरे/01जनवरी2020

Leave a Reply