व्यापार

पिरामल को 1,702.59 करोड़ का नुकसान

मुंबई । अजय पिरामल के नेतृत्व वाली पिरामल एंटरप्राइजेस ने कहा कि 31 मार्च 2020 को समाप्त पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में उसे 1,702.59 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ। कंपनी को कोविड-19 महामारी के चलते अतिरिक्त प्रावधान करने के कारण यह घाटा हुआ। इससे पिछले साल की चौथी तिमाही में कंपनी ने 454.63 करोड़ रुपए का शुद्ध मुनाफा हासिल किया था। जनवरी से मार्च 2020 की चौथी तिमाही में कंपनी की कुल आय भी एक साल पहले के 3,408.62 करोड़ रुपए से घटकर 3,341 करोड़ रुपए रह गई। कंपनी के चौथी तिमाही परिणाम की घोषणा के अवसर पर पिरामल ने कहा ‎कि कोविड-19 संकट ऐसे समय आया है जब पहले से सुस्ती चल रही थी। ऐसे में कंपनी के निदेशक मंडल ने 1,903 करोड़ रुपए का अतिरिक्त प्रावधान करना बेहतर समझा। इसे मिलकार कुल प्रावधान बढ़कर 2,693 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। यह राशि कंपनी की बुक का 5.8 प्रतिशत बैठती है। इस दौरान कंपनी को 35 प्रतिशत कंपनी कर की पुरानी व्यवस्था से निकलकर 25 प्रतिशत कर की व्यवस्था में जाने से न्यूनतम वैकल्पिक कर (मैट) और डीटीए में हुये कुछ बदलाव से 1,758 करोड़ रुपए की प्राप्ति भी हुई। कंपनी ने बंबई शेयर बाजार को सूचित किया है कि उसके निदेशक मंडल ने प्रति शेयर 14 रुपए का लाभांश देने की सिफारिश की है। पूरे वित्त वर्ष 2019-20 की यदि बात की जाये तो इस दौरान पिरामल एंटरप्राइजेज का शुद्ध लाभ 21.14 करोड़ रुपए रहा जो कि एक साल पहले के साल में 1,464.09 करोड़ रुपए रहा। वर्ष के दौरान कंपनी को अपने कारोबार से कुल 13,068.29 करोड़ रुपए का राजस्व प्राप्त हुआ। एक साल पहले 2018- 19 में यह 11,882.59 करोड़ रुपए रहा था।

सतीश मोरे/12मई

Leave a Reply