व्यापार

एचडीबी फाइनेंशियल ने प्रदर्शन की समीक्षा के आधार पर की छंटनी: अधिकारी

नई ‎दिल्ली। एचडीएफसी समूह की गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी एचडीबी फाइनेंशियल सर्विसेज ने नौकरी से निकाले गए कर्मचारियों के आरोपों को गलत बताते हुए कहा कि उसने प्रदर्शन की समीक्षा के आधार पर छंटनी की है। कंपनी ने लॉकडाउन के दौरान करीब 150 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला है। निकाले गये कर्मचारियों का आरोप है कि उन्हें कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिये लगाये गये लॉकडाउन से कंपनी की वित्तीय स्थिति खराब होने के कारण नौकरी से निकलने को कहा गया। कंपनी के एक अधिकारी ने इस बारे में कहा कि यह सालाना प्रदर्शन समीक्षा का हिस्सा था। उन्होंने कहा कि छांटे गये कुछ कर्मचारियों के साथ नैतिकता का भी मुद्दा है। नौकरी से निकाले गये कुछ कर्मचारियों ने इसके बारे में सोशल मीडिया पर लिखा है। उनका आरोप है कि कंपनी ने उनसे तत्काल त्याग पत्र देने को कहा और ऐसा नहीं करने पर नौकरी से निकाल देने की चेतावनी दी। इन कर्मचारियों का कहना है कि इसके लिए उन्हें कंपनी के मानव संसाधन विभाग और उनके वरिष्ठ प्रबंधकों के फोन भी आए। छांटे गए कर्मचारियों ने कहा कि बिना किसी पूर्व सूचना के उन्हें नौकरी से निकाला जाना अनैतिक है। वह भी ऐसे समय में जब नयी नौकरी ढूंढना लगभग असंभव है। हालांकि एचडीबी फाइनेंशियल सर्विसेस की मातृ कंपनी एचडीएफसी बैंक ने एक बयान में कहा कि इस छंटनी का मौजूदा आर्थिक हालातों से कुछ लेना देना नहीं है। यह छंटनी कर्मचारियों के प्रदर्शन के आधार पर की गई है। यह उसके कुल कर्मचारियों की संख्या के मुकाबले बहुत छोटी सी संख्या है।

सतीश मोरे/12मई

Leave a Reply