देश

प्रमोशन और इंक्रीमेंट के लिए अब शिक्षकों को भरना होगा कैरेक्टर रोल


नई दिल्ली (ईएमएस)। बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षकों का अब सालाना कैरेक्टर रोल तैयार किया जाएगा। इसके आधार पर विभाग इनकी गोपनीय वार्षिक आख्या तैयार करेगा जो प्रमोशन और इंक्रीमेंट का आधार बनेगी। मानव संपदा पोर्टल के जरिए प्रक्रिया पूरी की जाएगी। बेहतर वार्षिक आख्या पाने के लिए शिक्षकों को मानव संपदा पोर्टल पर जाकर स्व मूल्यांकन ऑनलाइन 15 अप्रैल तक पूरा करना होगा। इसके बाद ब्लाक शिक्षा अधिकारी प्रधानाध्यापकों और सहायक अध्यापकों के स्व मूल्यांकन का रिव्यू कर अपनी टिप्पणी के साथ अंक प्रदान करेंगे। अंतिम चरण में बेसिक शिक्षा अधिकारी गोपनीय वार्षिक आख्या का काम पूरा करके इसे विभाग को भेजेंगे। अधिकारियों की रिपोर्ट के आधार पर ही हेडमास्टर और शिक्षकों का सालाना इंक्रीमेंट और प्रमोशन तय किया जाएगा। शिक्षा महानिदेशक विजय किरन के आदेश के बाद विभाग इसे पूरा करने में जुट गया है। स्व मूल्यांकन की प्रक्रिया 15 अप्रैल जबकि बाद ब्लाक शिक्षा अधिकारियों को मूल्यांकन 15 मर्इ तक पूरा करके बीएसए को भेजना है। बीएसए इसे 31 मई तक विभाग को भेजेंगे। सूबे में पहली बार शिक्षकों की वार्षिक आख्या (सीआर) निजी संस्थानों की तर्ज पर लिखी जा रही है। इसमें विभाग की ओर से हेडमास्टर व शिक्षकों के लिए मानक भी तय कर दिए गए हैं। अगर मानकों पर खरे नहीं उतरे को अधिकारी उन्हें शून्य अंक भी दे सकते हैं। सहायक अध्यापकों के विद्यार्थियों के परीक्षा में ए प्लस ग्रेड आने पर 20, ए ग्रेड पर 16, बी ग्रेड पर 12, सी ग्रेड पर 8 तथा डी ग्रेड पर शिक्षक को केवल चार नंबर मिलेंगे। छात्रों की उपस्थिति 75 फीसदी या उससे अधिक रहती है, छात्र ए प्लस अथवा ए कैटेगरी में आते हैं तो शिक्षक को 20 अंक मिलेगा। अन्यथा शिक्षकों को शून्य अंक दिया जाएगा।
अजीत झा/देवेंद्र/ईएमएस/नई दिल्ली/12/जनवरी/2021