मध्य प्रदेश

क्लस्टर आधारित सूक्ष्म, लघु उद्योगों के लिए केंद्र ने बुरहानपुर के प्रस्ताव को दी मंजूरी

  • पूर्व मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस ने माना आभार
    बुरहानपुर (ईएमएस)। भारत सरकार ने मध्यप्रदेश में क्लस्टर आधारित परियोजनाओं के तहत सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम लगाने के लिए 12 जिलांे में औद्योगिक क्षेत्रों में अधोसंरचना विकास के प्रस्तावों को सैद्धांतिक मंजूरी दी है। इसमें पूर्व मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस (दीदी) के प्रयासों से बुरहानपुर जिले को औद्योगिक केंद्र तथा अधोसंरचना विकास के प्रस्ताव को हरी झंडी मिली है। श्रीमती चिटनिस ने केंद्रीय एमएसएमई मंत्री श्री नितिन गड़करी, मुख्यमंत्री श्री षिवराजसिंह चौहान एवं सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री श्री ओम प्रकाश सखलेचा का आभार व्यक्त किया।
    श्रीमती चिटनिस ने बताया कि निरंतर संपर्क कर एवं पत्राचार के माध्यम से बुरहानपुर के लिए एमएसई-सीडीपी योजनान्तर्गत क्लस्टर प्रस्तावा पर स्वीकृति का अनुरोध किया जाता रहा। भारत सरकार द्वारा प्रदेश के 12 जिलों के क्लस्टर प्रस्ताव को आगामी स्क्रीनिंग कमेटी की मीटिंग में अंतिम अनुमोदन मिल जाएगा। इसमें बुरहानपुर जिले को भी सम्मिलित किया गया है। उन्होंने बताया कि भोपाल और राजगढ़ में इंजीनियरिंग क्लस्टर तथा औद्योगिक संस्थान फूड प्रोसेसिंग के अलावा अकोदी लाख क्लस्टर कृषि पर आधारित औद्योगिक संस्थान सनावद में नवीन औद्योगिक क्षेत्र मोहम्मदपुरा में इलेक्ट्रिक एवं मैकेनिकल औद्योगिक संस्थान के अलावा भोपाल के गोविंदपुरा, बुरहानपुर, खरगोन, बालाघाट, बैतूल, देवास, उज्जैन, अशोकनगर, सतना और छतरपुर के औद्योगिक केंद्र तथा अधोसंरचना विकास के प्रस्तावों को हरी झंडी मिली है। उन्होंने बताया कि जल्दी ही इन प्रस्तावों पर केन्द्रांश की राशि भी प्राप्त होगी।

राहत बैग / 16फरवरी