मध्य प्रदेश

आलीराजपुर में कांग्रेस का शक्ति प्रदर्शन :राऊ विधायक ने ड्यूटी पर तैनात पुलिस अधिकारियों से पूछे सवाल, अल्टीमेटम भी दिया


आलीराजपुर (ईएमएस) महँगाई एवम कृषि बिल के विरोध में कल जिला कांग्रेस द्वारा जोबट के मंडी प्रांगण में आयोजित आक्रोश रैली, धरना एवम प्रदर्शन जोबट विधायक सुश्री कलावती के लिए नैतिक समर्थन एवम सहयोग रैली के रूप आयोजित होती हुई नजर आए, जिसमे कृषि बिल और महंगाई के मुद्दे करीब करीब गोण हो गये और सभा में भाषण कर रहे सभी वक्ताओं ने एक स्वर में पिछले दिनों भाजपा नेताओं द्वारा कलावती भूरिया के लिए कथित रूप से की गई अमर्यादित टिप्पणियों की कटु आलोचना की. इस तरह कथित तौर पर शासन की नीतियों के विरोध में आयोजित आक्रोश रैली एवम सभा कांग्रेस नेत्री के लिए समर्थन सभा का स्वरूप धारण कर गई. सभा मे भाषण करने वाले नेताओं ने एक स्वर में कथित तौर पर अमर्यादित टिप्पणी करने वाले भाजपा नेताओं के खिलाफ आक्रोश व्यक्त करते हुए कार्यवाही किये जाने की माँग की. एक तरफ जहां अन्य नेताओं सहित विशेष रूप से कलावती भूरिया ने आक्रोश भाषण दिया जिसे स्तरहीन कहा जा सकता है, वही दूसरी तरफ़ मऊ से कांग्रेस विधायक एवम प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी ने आयोजन के मुख्य अतिथि के रूप में स्तरीय भाषण करते हुए सिलसिलेवार रूप से उन मुद्दों की और शासन प्रशासन का ध्यानाकर्षण किया जो पिछले कुछ समय से जिले की राजनीति में उभरे हुए हैं. जीतू पटवारी ने भाजपा नेताओं की अमर्यादित टिप्पणियों एवम कथित धमकियों के संदर्भ में, सभा मे ड्यूटी कर रहे प्रशासनिक एवम पुलिस अधिकारियों को जहाँ कार्यवाही के बारे में तलब किया वही निवेदन के लहजे में अल्टीमेटम भी दे दिया. जीतू पटवारी ने स्तरीय एवम प्रभावी तरीके से सभा मे भाषण करते हुए कहा की “एक महिला को (जोकि आदिवासी है) मार दिए जाने की धमकी के बावजूद पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं कि.” पटवारी ने ड्यूटी कर रहे पुलिस अधिकारी से पूछा कि “बताएं यह कानून का राज है या तालिबान का राज?” “एक आदिवासी महिला को जान से मारने धमकी दी गई, कहा गया कि तेरे हाथ काट दूंगा, तेरी नाक काट दूंगा, बावजूद उसके पुलिस ने कार्यवाही क्यों नहीं की? धारा 523 लगनी चाहिए थी, धारा 307 लगनी चाहिए थी, वो क्यो नही लगाई गई? एट्रोसिटी एक्ट के तहत प्रकरण क्यो नही दर्ज किया गया?” उन्होंने अल्टीमेटम देते हुए कहा की “यदि 24 घंटे में पुलिस द्वारा उचित धाराए लगाकर प्रकरण दर्ज नही किया गया तो पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ पूरी कांग्रेस यहां आकर इस बारे में बात करेगी.” पटवारी ने मुख्यमंत्री को संबोधित करते हुए कहा कि “शिवराजजी आप भाजपा और कांग्रेस की आखों से माफियाओ को देखते है, यह कैसा माफियाओ के खिलाफ अभियान है? “
सभा को झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया सहित अन्य विधायको और जिला कांग्रेस अध्यक्ष महेश पटेल ने भी सम्बोधित किया.
सभा के पूर्व राऊ विधायक जीतू पटवारी का जिला कांग्रेस कमेटी द्वारा स्वागत, अभिनंदन किया गया.
डॉ. उमेशचंद्र शर्मा /थांदला/ 18 फरवरी 2021/