देश

आश्रम की छावनी में आग लगने से आधा दर्जन झुलसे


दमकल विभाग की 09 गाड़ियों ने आग पर पाया काबू
हरिद्वार, 14 अप्रैल। कुंभ नगरी में तीसरे शाही स्नान के दिन कनखल सन्यास रोड स्थित छावनी में शार्ट सर्किट के कारण आग लगने से वहां अफरा तफरी मच गई, आग को बुझाने के प्रयास में आधा दर्जन लोग झुलस गए, सूचना पर दमकल विभाग की अलग-अलग स्थानों से 9 गाड़ियों ने पहुंचकर आग पर काबू पाया। आग की घटना में वहां रुके श्रद्धालुओं के खाना-पीना, नगदी, कपड़ा सहित अन्य सामान जलकर राख हो गया। झुलसे लोगों का उपचार के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां पर चिकित्सकों ने उनको उपचार के बाद छुट्टी दे दी। प्राप्त जानकारी के अनुसार बुधवार की सुबह 11 बजे के आसपास कनखल सन्यास रोड स्थित कृष्णा आश्रम के पास खाली प्लाट में बनी भक्तों की छावनी पर अचानक धुआं सा उठने लगा छावनी में रुके श्रद्धालुओं में अफरा तफरी मच गयी। कुछ ही देर में पीछे से उठी आग आगे की तरफ बढ़ती आ रही थी, कुछ लोगों ने आग बुझाने का प्रयास किया, मगर लपटें इतनी तेज थी कि वह झुलस गए, मामले की जानकारी पुलिस कंट्रोल रूम को दी गयी। कंट्रोल रूम से आग लगने की सूचना प्रसारण होने के बाद दमकल विभाग की कुंभ मेला आसपास क्षेत्र में दमकल की 9 गाड़ियां ने घटनास्थल पर पहुंचकर घण्टे की मशकत के बाद आग पर काबू पाया गया। आग में झुलसे सोबत राय पुत्र सत्य रंजन राय उम्र 51 वर्ष उनके पिता सत्य रंजन उम्र करीब 86 निवासीगण बंगाल, सुजीत कुमार शाह पुत्र स्व- सुरेश चन्द्र शाह उम्र 67 निवासी त्रिपुरा, अम्बेश्वर गिरि शिष्य आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि निवासी पश्चिम बंगाल लगाया गया। जबकि दो अन्य को निजि अस्पताल ले जाया गया। जिला अस्पताल ले जाये झुलसे लोगों कोे उपचार के बाद छुट्टी दे दी गयी। चीफ फायर ऑफिसर नरेंद्र सिंह कुंवर ने बताया की खाली प्लाट में बाहर से आए लोगों ने टीन सेट बनाए हुए थे। जिसमें सोने के लिए पुराल व दरिया बिछाई हुई थी, शॅार्ट सर्किट की वजह पुराल में आग लग गई और उसने पूरी छावनी को अपनी चपेट में ले लिया, आग लगने से वहां रहने वाले हैं लोगों के कपड़े व अन्य सामान जलकर राख हो गया। आग बुझाने की प्रयास में आधा दर्जन लोग झुलस भी गए। जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भेजा गया है।