देश

इमरान ने क्रॉउन प्रिंस से कश्मीर स्थिति पर की चर्चा

इस्लामाबाद, 27 अगस्त (वार्ता) पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मंगलवार को सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान से टेलिफोन पर कश्मीर की स्थिति को लेकर चर्चा की।

सऊदी प्रेस एजेंसी के अनुसार दोनों नेताओं ने क्षेत्र के हालिया घटनाक्रमों पर चर्चा की। श्री खान ने क्राउन प्रिंस को कश्मीर के हालिया घटनाक्रम की जानकारी दी।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को समाप्त करने के भारत के फैसले के बाद पाकिस्तान बौखलाया हुआ है और विश्व को इस मुद्दे पर अपनी ओर करने की कोशिश कर रहा है।

शनिवार को मुसलमान बहुल संयुक्त अरब अमीरात ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘ऑर्डर ऑफ जायेद’ से सम्मानित नवाजा है, जिसके बाद पाकिस्तान और भी गुस्से में है।

इसबीच श्री मोदी ने सोमवार काे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से स्पष्ट शब्दों में कह दिया कि भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर समेत सभी मुद्दे द्विपक्षीय हैं और इनमें किसी तीसरे पक्ष की कोई भूमिका नहीं हो सकती। श्री मोदी ने जी-7 देशों के शिखर सम्मेलन के इतर श्री ट्रंप के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा,“ भारत और पाकिस्तान के बीच सभी मुद्दे द्विपक्षीय हैं और हम इनके लिए दुनिया के किसी भी देश को कष्ट नहीं देते हैं। मुझे विश्वास है कि भारत और पाकिस्तान जो 1947 से पहले एक ही थे, मिलकर सभी मुद्दों पर चर्चा भी कर सकते हैं और उनका समाधान भी कर सकते हैंं।”

कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता की पेशकश कर चुके श्री ट्रंप ने श्री मोदी की बात से सहमति जतायी। उन्होंने कहा,“हमने कल रात (रविवार की रात) कश्मीर के बारे में बात की। प्रधानमंत्री का मानना है कि यह मुद्दा उनके नियंत्रण में है। वे पाकिस्तान के साथ बात करते हैं और मुझे भराेसा है कि वे कुछ बहुत अच्छा करेंगे। ” 

श्री मोदी ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच कई द्विपक्षीय मुद्दे हैं। श्री खान जब चुनाव जीते थे तो उन्होंने बधाई देने के लिए उन्हें टेलीफोन किया था और कहा था कि पाकिस्तान और भारत दोनों को गरीबी, अशिक्षा और बीमारी से लड़ना है। दोनों देश मिलकर गरीबी और असुविधाओं के खिलाफ लड़ें तथा दोनों के आवाम की भलाई के लिए मिलकर काम करें।

गौरतलब है कि श्री खान ने श्री ट्रंप से कश्मीर मसले पर मध्यस्थता करने की गुहार लगाई थी लेकिन श्री मोदी के श्री ट्रंप के समक्ष स्थिति स्पष्ट करने और किसी भी प्रकार के मध्यस्थता से इंकार कर देने के बाद पड़ोसी देश अन्य माध्यमों के जरिये मसले को भटकाने की कोशिश में जुट गयी है। श्री खान के देश को सम्बोधन के दौरान भारत को परमाणु युद्ध की धमकी के एक दिन बाद मंगलवार को वहां के रेल मंत्री शेख राशिद अहमद ने भी दक्षिण एशिया के दो पड़ोसी देशों के बीच परमाणु युद्ध छिड़ने की फिर से धमकी दी है।

प्रियंका.संजय 

वार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *