देश

वित्त मंत्री ने इनकम टैक्स में कटौती का दिया संकेत

‎‎वित्त मंत्री ने कहा- इनकम टैक्स रेट को तर्कसंगत बनाने समेत अन्य उपायों पर ‎किया जा रहा ‎विचार
नई दिल्ली । अर्थव्यवस्था की रफ्तार में आई सुस्ती को दूर करने के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे उपायों की जानकारी देते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक बार फिर इनकम टैक्स रेट में कटौती का संकेत दिया। वित्त मंत्री ने कहा कि इनकम टैक्स रेट को ज्यादा तर्कसंगत बनाने समेत अन्य उपायों पर विचार किया जा रहा है। दरअसल, इनकम टैक्स ऐक्ट में बदलाव के लिए गठित अखिलेश रंजन टास्कफोर्स ने भी टैक्स स्लैब्स में बदलाव की सिफारिश की थी। अगस्त के महीने में सरकार को नए डायरेक्ट टैक्स कोड पर रिपोर्ट सौंपी गई थी। हालांकि उस रिपोर्ट को सार्वजनिक नहीं किया गया था। जानकारी के मुताबिक टास्कफोर्स ने जनरल टैक्सपेयर्स के लिए छूट की सीमा 2.5 लाख रुपए पर बरकरार रखा था। सीनियर सिटिजंस के लिए 3 लाख तक छूट और अति वरिष्ठ नागरिकों के लिए यह सीमा 5 लाख रुपए पर बरकरार रखी गई।
टैक्स स्लैब में बदलाव लाए जाने की भी बात है। 10 फीसदी टैक्स वाले स्लैब की सीमा सीधे 10 लाख तक की आय तक होगी, जिसकी वजह से टैक्सपेयर्स को फायदा होगा। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (सीबीडीटी) के मुताबिक 2017-18 में रिटर्न फाइल करने वाले 5.52 करोड़ इंडिविजुअल टैक्सपेयर्स में से 27 फीसदी 5 से 10 लाख रुपण् की आय वर्ग से थे। अगर टास्कफोर्स की सिफारिशें लागू हो जाती हैं तो 20 फीसदी वाले टैक्स स्लैब में से 1.47 करोड़ करदाता सीधे 10 फीसदी वाले स्लैब में आ जाएंगे। यानी उन पर कम टैक्स बनेगा। मौजूदा समय में कुल टैक्स पर 4 फीसदी सेस लगता है और 5 लाख रुपए तक की आय पर टैक्स फुल रिबेट मिलता है।

सतीश मोरे/08‎दिसंबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *