खेल

सेंटपॉल इंस्टीट्यूट में हुआ नेशनल स्पोर्ट्स सेमिनार –

:: खेल जीवन का अहम अंग : शर्मा
इन्दौर । खेल का क्षेत्र काफी व्यापक हो गया है और मैदानी पहलुओं के साथ तकनीकि व अन्य परिस्थितियों में भी खिलाड़‍ियों व प्रशिक्षकों को तत्पर रहना होता है।
उक्त उदगार डॉ. शिवशंकर शर्मा ने सेंटपॉल इंस्टीटयूट ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज द्वारा आयोजित नेशनल स्पोर्ट्स सेमिनार में व्यक्त किए। शर्मा ने बताया की खेल जीवन का अहम अंग है और व्यवहारिक जीवन में भी यह हमारे काम आता है। जो खिलाड़ी एक बार मैदान में उतर जाता है तो फिर उसमें रम जाता है। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के शरीरिक शिक्षा निदेशक सुनील दुधाले ने बताया की खेलों से व्यक्ति का सर्वागिण विकास होता है और हम चाहे कोई सा भी खेल हो इससे व्यक्ति शरीरिक के साथ मानसिक रूप से भी मजबूत होता है। इस दौरान दुधाले ने सेमिनार में मौजूद अनेक युवाओं और प्रशिक्षकों को तकनीकि पहलुओं से अवगत कराया। डॉ. अविनाश यादव व डॉ. सिस्टर एलिस थॅामस ने भी प्रेरक उद्बोधन दिया। संचालन डॉ. रफिक खान ने किया।
प्रकाश/2 दिसम्बर 2019

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *