Uncategorized

महिलाओं के भजन-कीर्तनो से शराब माफियों का धंधा हुआ कम

नई दिल्ली। घर के पुरुषों को नशेड़ी होने से बचाने के लिए महिलाओं ने अपने इलाके के अवैध शराब माफिया के घरों के बाहर भजन-कीर्तन शुरू किया गया है। इसका असर यह हुआ कि शराब माफिया का धंधा चौपट हो गया, उनकी बिक्री कम हो गई। दूसरी ओर, घर की महिलाओं को शराब माफिया के घरों के बाहर देख ‘तलबी’ पुरुष भी वहां जाने से बचने लगे। इनमें ज्यादातर इलाके के नौजवान थे। अवैध शराब माफिया के खिलाफ यह मुहिम द्वारका जिले के बिंदापुर थाने में आने वाले विशु विहार में चलाई जा रही है। यहां ६ लोग अवैध शराब बेच रहे थे, जिनमें दो महिलाएं भी थीं। पुलिस ने काफी दबाव बनाया, लेकिन ये माफिया फिर भी चोरी-छिपे शराब बेचने में कामयाब रहते थे लेकिन महिलाओं की इस मुहिम से उन्हें झटका लगा है। द्वारका के विशु विहार में १५-२० महिलाओं का ग्रुप रोज शराब माफिया के घरों के सामने भजन-कीर्तन करता है। इससे खरीदार वहां जाने से बचते हैं और माफिया का धंधा चौपट होता है। पुलिस अब ऐसे प्रयोग उन जगहों और क्लस्टरों में भी करेगी, जहां इसी तरह से अवैध शराब बेची जा रही है। विशु विहार में शराब माफिया के खिलाफ महिलाओं की इस मुहिम को वेस्टर्न रेंज के जॉइंट कमिश्नर सीपी मधुप तिवारी और इलाके के डीसीपी ए। अल्फोंस का पूरा समर्थन है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *